What is Virtual Memory – Virtual Memory क्या होता है?

आप ने Technical Term में Virtual Memory के बारे में जरूर सुना होगा क्योकि मेमोरी एक एक ऐसी Chip हैं, आज कल Device में उपललब्ध हैं कई बार अपने सुना भी होगा अगर मेमोरी अच्छी नहीं हो तो हमारे Device अच्छे से इसलिए काम नहीं करते हैं. आज हम Virtual Memory के बारे में बहुत ही डिटेल में जानंगे। आखिर virtual मेमोरी होता क्या हैं और इसक इस्तेमाल क्या हैं

 

अगर आप एक कंप्यूटर के Student हैं या कंप्यूटर के Student रह चुके हैं तो Virtual मेमोरी के बारे में जानकारी होगी। आज हर कोई Computer का इस्तेमाल करता हैं क्योकि आज के दौर में कंप्यूटर का यूज़ हर जगह होने लगा हैं, Computer में दो तरह के Memory बहुत ही महत्वपूर्ण होता हैं जिसे हम RAM (Random access memory) और ROM (Read only memory) के नाम से भी हम जानते हैं।

 

परन्तु मैं आपको बता दूँ RAM और ROM के बाद भी एक Memory हमारे Computer में मौजूद रहता हैं जिसे हम Virtual Memory कहते है. आज मैं इस Post में Virtual Memory के बारे में पुरे Detail में बताने वाला हूँ तो चलिये जानते हैं computer में वर्चुअल मेमोरी क्या होती हैं।

 

 

Virtual Memory क्या होता हैं

Computer में Multiprocessing के काम करने के लिए RAM का होना बहुत ही जरुरी है मल्टीप्रोसेसिंग का मतलब कम्प्यूटर में कई सरे task को एक साथ Perform करना या कई सरे Program और Application को एक साथ इस्तेमाल करना।

 

किसी भी कम्प्यूटर में भिन प्रकार के application को Run करने के लिए कंप्यूटर में RAM ही उस कार्य को करता है हम जितने बार अपने कम्प्टूर में अप्प्लिकेशन को Run करने के लिए Open करते है उतनी ही बार हमारे RAM का Space उन सभी Application को Run करने के लिए भरता जाता हैं।

 

कभी कभी ऐसा भी होता है हमारे computer का RAM मल्टीपल Application एक साथ Run करने के कारन भरने लगता हैं। जिससे बाद कोई भी application हमारे कंप्यूटर में Run नहीं करता हैं। इस इस्तिथि में Computer Virtual Memory का इस्तेमाल करता है Virtual Memory Computer के Hard disk से Space लेकर Computer में RAM के Alternative task के लिए उपयोग करता हैं।

 

Virtual Memory Computer को एक अलग RAM उपलब्ध कराती है जो की Physical RAM से बिलकुल अलग होता हैं अलग इसलिए होता है क्योकि RAM Computer में चिप के रूप में Insert होता है और।RAM एक Hardware Device हैं। परन्तु Virtual Memory एक सॉफ्टवेयर हैं

 

 

Virtual Memory का काम क्या है

Virtual Memory का यही है अगर कंप्यूटर System में RAM का Space कम है तो Computer में Virtual Memory का प्रयोग कर उस कमी को दूर किया जा सकता हैं हर Computer में RAM का साइज Limited होता है.

 

अगर आप अपने computer में एक साथ मल्टीप्ल Application को यूज़ करते है तो Full हो जाता हैं यही कारन हैं

जिससे हमारे कंप्यूटर का Speed धीमे होने लगता हैं.जब भी RAM Space full होने लगता है तो Virtual Memory RAM के Data को Hard Disk में भेज देता है जिससे RAM का Space खली हो जाता है जिससे कंप्यूटर Tasks अच्छे से Perform करता हैं।

 

Virtual Memory का काम कैसे करता हैं

जब भी हमारे Computer में RAM का Space Full होने लगता है तो हमारे कंप्यूटर का Operating System यूज़ हो रहे अप्प्लिकेशन और Files का जाँच करता है, और जो भी फाइल और Application Minimize होता है जो हमारे कंप्यूटर में Open तो रहती है परन्तु यूजर उस समय उनपे काम नहीं कर रहा होता हैं।

 

उन सभी प्रोग्राम को Computer Virtual Memory में Paging File के help से RAM की data को Transfer कर देती हैं. जब Data Physical Memory से Virtual Memory में Transfer किया जाता है,

उस वक़्त Operating System उन सभी Application और Program को Page File में Divide कर देता हैं. साथ ही हर page के File डाटा के साथ एक Fixed Number का Address भी जोड़ देता हैं।

 

हर Page file Hard Disk  में जाकर के इकट्ठा हो जाते हैं. इससे हमारी रैम का स्पेस खाली होने लगता है और जिस ऐप्लिकेशन पर यूजर प्रेजेंट में यानी की वर्तमान में काम कर रहा होता है वो बहुत ही अच्छी तरीके से एकदम स्मूद ली रन होता है उसके साथ नई Application भी Fast लोड हो पाती है

 

तो जब उन Application को ओपन करते हैं जो हमने मेन Device करके रखा हुआ है. उसमें Hard Disk की  Virtual Memory पाई ट्रांसफर की गई थी उस फाइल के एड्रेस को ओएस वापस से डिस्क से कॉपी करके रैम में फिर से भेज देता है जिससे हम उस प्रोग्राम या अप्लीकेशन पर आसानी से काम कर पाते हैं

 

 

Virtual Memory Loading Process

Operating System तब तक Files को हार्ड डिस्क से RAM में लोड नहीं करती है जब तक उनकी जरूरत नहीं पड़ जाती. इस प्रॉसेस से Computer  में रैम के साइज को बढ़ाया जाता है जिससे Computer पर एक से ज्यादा प्रोग्राम्स को चलाते टाइम कम साइज के RAM की Problem से छुटकारा पाया जा सकता है.

 

Virtual Memory कंप्यूटर की Physical Memory नहीं है बल्कि एक ऐसी तकनीक है जो एक बड़ी प्रॉब्लम को एक्जिक्यूटिव करने की Permission देती है जो पूरी तरह से प्राइमरी मेमरी यानी की रैम में नहीं रखी जा सकती है.

 

Virtual Memory और ऑपरेटिंग सिस्टम का ही एक भाग है जो कि रैम के कार्य को पूरा करने में हेल्प करता है तथा वो सारी Application जिन्हें आप पहले Access नहीं कर पा रहे थे उन्हें इस Memory के जरिए अब आसानी से कर पाएंगे.

 

वर्चुअल मेमरी के फायदे क्या हैं

Virtual Memory के फायदे क्या हैं. वर्चुअल मेमरी उस टाइम बनाया था जब रैम महंगी हुआ करती थी और कम्प्यूटर्स में सीमित मात्रा में रैम होने की वजह से कंप्यूटर की Memoryफुल हो जाती थी खासकर के जब हम मल्‍टीपल Program को एक ही टाइम में रन करते थे Virtual Memory से हम अपने Computer के RAM को लगभग दो गुना कर सकते हैं

 

जिससे Computer  की Speed पहले से ज्यादा बढ़ जाती है और इसका सबसे ज्यादा फायदा ये है कि Programs Application बनाने के लिए बड़े बड़े Programलिख सकते हैं क्योंकि Physical Memory की तुलना में Virtual Memory बहुत बड़ी होती है. तो अब आप अपने कंप्यूटर पर ज्यादा बड़े साइज वाले प्रोग्राम्स को भी आसानी से रन कर पाएंगे.

 

इस Reason की वजह से वर्चुअल मेमरी उन लोगों के लिए सबसे अच्छी होती है जो कंप्यूटर सिस्टम को अपग्रेड नहीं करना चाहते. बियानी की नई और बड़े साइज वाले रैम खरीदना नहीं चाहते हैं लेकिन कंप्यूटर पर फास्ट काम करना चाहते हैं.

 

यह बात काफी अच्छी है. इसका दूसरा फायदा ये भी है कि सिस्टम में एक टाइम पर एक से ज्यादा एप्लिकेशन खुल करके बिना रुकावट के इस्तेमाल किया जा सकता है. लेकिन वर्चुअल मेमरी की खामी भी है.

 

Hard Disk में प्रोग्राम के अधिक पेज Files रखने से उन फाइल्स को प्राप्त करने का प्रोसेस जोएन और धीमा हो जाता है क्योंकि मेन मेमरी रैम से डेटा एक्सेस करने के कंपैरिजन में हार्ड डिस्क से डेटा ऐक्सेस करने में अधिक समय लगता है.

 

इसलिए Multiple Applications को रन करने में थोड़ा टाइम लग जाता है. Virtual Memory मुख्य रूप से यूजर्स के लिए जान की क्षमता का विस्तार करने की टेक्नीक है. Virtual Memory का उपयोग सभी बड़े Operating System में किया जा सकता है.

 

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      MYTECHINFO
      Logo