HTML क्या है क्या काम करता है

आज के इस शानदार टॉपिक में हम HTML के बारे में जानेंगे। इसके साथ ही हम HTML की डेफिनेशन को समझेंगे। क्योकि आज के समय में हर रोज html का इस्तेमाल करते है वो कैसे करते है उसके बारे में हम जानते है आज पूरी दुनिया इंटरनेट से जुड़ रही है हर कुछ डिजिटल हो रहा है यानि पहले जो काम ऑफलाइन होता था वो अब ऑनलाइन हो गया है क्योकि आज इंडिया दिन प्रतिदिन डिजिटल होता जा रहा है।

इसके साथ ही इंटरनेट के आने से बिज़नेस भी ऑनलाइन हो रहे है जो लोग इंटरनेट के बारे में ज्यादा जानकारी रखते है वो आज घर बैठे लाखो कमा रहे है। इसके साथ ही जितना ज्यादा बिज़नेस ऑनलाइन होगा। उतना ही ज्यादा इंटरनेट पर वेबसाइट पब्लिश होगा।

लेकिन आपको ये जानना बेहद जरुरी है की किसी भी वेबसाइट को डेवेलोप करने के लिए HTML की आवश्यकता जरुर पड़ती है इसका मैं एक सीधा एक्साम्प्ले देता हूँ। आप जिस ब्लॉग पर इस आर्टिकल को पढ़ रहे है उस ब्लॉग को बनाने के लिए भी html का इस्तेमाल किया है। तो आप समझ ही गए होंगे की आखिर html इतना क्यों जरुरी है। तो चलिए अब मैं आपको html के बारे में एक बेसिक इनफार्मेशन को आपके साथ शेयर करता हूँ।

HTML एक प्रोगरामिंग लैंग्वेज जो किसी वेबसाइट को बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। जब भी आप किसी वेबसाइट को इंटरनेट पर एक्सेस करते है तब आपके सामने उस वेबसाइट का सारा का सारा इनफार्मेशन आपके सामने आ जाता है। जो की एक वेब डॉक्यूमेंट के रूप में किसी होस्टिंग सर्वर पर स्टोर होता है लेकिन क्या आपको पता है जितने भी वेब डॉक्यूमेंट होते है वो सभी के सभी html Language में लिखे गए होते है जिसके लिए मार्कअप लैंग्वेज का इस्तेमाल होता है अब हम html की डेफिनेशन को समझते है। What is HTML in Hindi और History of HTML इत्यादि।

 

HTML क्या है HTML in Hindi

एचटीएमएल का फुल फॉर्म (Hypertext Markup Language) होता है जिसे शार्ट में HTML कहा जाता है। ये कोडिंग लैंग्वेज है इसका इस्तेमाल वेबसाइट के स्ट्रकचरिंग के लिए किया जाता है। यानि इस लैंग्वेज को इस्तेमाल कर वेबसाइट को बेस को त्यार किया जाता है आप चाहे किस भी वेबसाइट की बात करे वो चाहे गूगल हो या फेसबुक सभी में आपको html मिल जायेगा।

अगर आप किस वेबसाइट का html Code को देखना चाहते है तो आप उस वेबसाइट पर जाकर अपने कंप्यूटर की माउस के राइट बटन को क्लिक करना है उसके बाद आपको View Page Source का ऑप्शन दिखेगा। उसपे क्लिक करने पर आपको उस वेबसाइट के सभी के सभी एचटीएमएल कोड दिखने लगेंगे।

इसके अलावा भी कई सारे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल वेबसाइट को डेवेलोप करने के लिए किया जाता है जैसे CSS जो किसी भी वेबसाइट की डिज़ाइन के लिए प्रयोग किया जाता है और Java, C Language इत्यादि। तब जाकर वेबसाइट तैयार होता है। लेकिन आज हम html के बारे में जानने वाले है जो किसी भी वेबसाइट की कोर को त्यार करने के लिए प्रयोग में किया जाता है। बिना HTML किसी भी प्रकार के वेब पेज नहीं बना है।

 

History of HTML

अब हम एचटीएमएल के हिस्ट्री के बारे में जानेंगे। तो सबसे पहले Tim Berners-Lee जो की एक Computer scientist थे जिन्होंने सबसे पहले html को 1991 में डिज़ाइन किये थे उन्हें इस लैंग्वेज को बनाने के पीछे जो अहम मकसद था वो था वेबसाइट को बनाने के लिए एक ऐसा लैंग्वेज को डेवेलोप करना जो सभी के सभी डेवलपर उस लैंग्वेज का इस्तेमाल करे।

इसके से जैसे जैसे समय बीतता गया html के कई सारे वर्शन भी आते गए। जैसे HTML 1.0, 2.0, 3.0, 4.0 इत्यादि। और आज के समय में एचटीएमएल को मैनेज करने की काम World Wide Web Consortium (W3C) कंपनी कराती है। जिसका काम है एचटीएमएल में समय के साथ अपडेट देना है तथा उसमे जरुरी बदलाव करना।

 

एचटीएमएल टैग क्या है

एचटीएमएल टैग एक हिडन कीवर्ड होते है जो ब्राउज़र में तो दिखाई नहीं देते परन्तु ये अपने काम को करने के लिए जाने जाते है अगर आप किसी भी प्रकार के कंटेंट को अपने वेब में दर्शाना है चाहे वो किसी प्रकार का वीडियोस है या ऑडियो है या किसी भी प्रकार का टेक्स्ट और इमेज है इन सभी के लिए पहले हम कीवर्ड यानि टैग का इस्तेमाल करते है।

एचटीएमएल में किसी भी टैग का अपना अपना एक ही काम होता है। यानि अगर हमें अपने एचटीएमएल में हेडिंग लगाना है तो <H1> टैग का इस्तेमाल करेंगे। वैसे ही टेक्स्ट को बोल्ड करना है तो उसके लिए अलग टैग का इस्तेमाल करते है। इन सभी टैग का काम होता है आपके कंटेंट को मॉडिफाई करना यानि टैग का इस्तेमाल कर हम कंटेंट को किस तरह ब्राउज़र में दिखाना है उसको डिफाइन करते है।

 

HTML टैग के प्रकार

तो चलिए अब हम एचटीएमएल टैग के अलग अलग प्रकार के बारे में जानेंगे। html tag मुख्य दो प्रकार के होते है जिसे हमने निचे पुरे डिटेल में एक्सप्लेन किया है।

  1. Container Tag [Pair Tag]
  2. Empty Tag

Container Tag [Pair Tag]

कंटेनर टैग ऐसे टैग होते है जिनका दो पॉइंट होते है यानि इस टैग को स्टार्ट करते है तो बंद भी करते है जैसे किसी टेक्स्ट को बोल्ड करना है तो सबसे टैग लगते <b>उसके बाद टेक्स्ट लिखते है फिर </b> एक और टैग लगाकर उसको बंद कर देते है। एक्साम्प्ले <b>type Text Here </b> इन्हे इसलिए कंटेनर टैग कहा जाता है क्योकि ये अपने अंदर कुछ न कुछ जरुर रखते है। निचे कुछ ऐसे ही टैग का एक्साम्प्ले दिया गया है।
<b>type Text Here </b>
<body>type Text Here </body>
<u>type Text Here </u>

 

Empty Tag

ये ऐसे टैग होते है जिनको बंद नहीं करना होता है यानि इस टैग का कोई भी एंडिंग टैग नहीं होता है और ये अपने अंदर किसी भी प्रकार का वैल्यू स्टोर करके नहीं रखते है। और इनका इस्तेमाल शुरू में किया जाता है। जैसे की आप एचटीएमएल में किसी टेक्स्ट लिंक को ब्रेक करना चाहते है तो सिर्फ आपको टैग का इस्तेमाल करना होता है जैसे <br> इसके आलावा और कोई भी टैग का इस्तेमाल नहीं करना है।

तो चलिए अब हम कुछ मुख्य टैग को समझते है। जिनका इस्तेमाल html में कुछ बनाते समय में बार बार इस्तेमाल किया जाता है।

  • <html> Tag इस टैग का इस्तेमाल हम किसी भी एचटीएमएल पेज को क्रिएट करने से पहले करते है इस टैग का इस्तेमाल कर हम ब्राउज़र को ये पेज एचटीएमएल में क्रिएट किया गया है।
  • <head> Tag ये टैग एचटीएमएल पेज की मुख्य टैग है इस टैग के अंदर ही वेब पेज की सभी की सभी इनफार्मेशन को लिखा जाता है यानि अगर हमें अपने पेज के लिए टाइटल देना है तो इस टैग के अंदर ही लिखेंगे। यंहा तक की हम <head> टैग के अंदर मेटा टैग लगते है जिसमे कीवर्ड लिखा जाता है और इन्ही कीवर्ड की हेल्प से हमारा साइट गूगल के अंदर रैंक करता है।
  • <Title> Tag इस टैग की हेल्प से हम अपने वेब पेज को टाइटल डिफाइन करते है किसी भी वेब पेज के टाइटल को लिखने के लिए टाइटल टैग का इस्तेमाल होता है
  • <Body> Tag एचटीएमएल के आदर बॉडी टैग बहुत बड़ी टैग होती है हम एचटीएमएल में जितने भी कंटेंट को देखते है वो सभी के सभी बॉडी टैग केअंदर लिखा जाता है बॉडी टैग में इमेज, लिंक्स, टेक्स्ट, फोंट्स इत्यादि को लिखते है। <Body> टैग हेड टैग के बाद लगता है और एक वेब पेज के अंदर एक ही बॉडी टैग होता है।
  • <a> Anchor Tag एंकर टैग लिंक करने के काम में आता है इस टैग के हेल्प से एक फाइल को दूसरे फाइल से लिंक किया जाता है या किसी एक लिंक को दूसरे लिंक से जोड़ा जाता है या किसी दूसरे html को भी लिंक कर सकते है।
  • <header> Tag ये Html 5.0 का नया टैग है इससे पहले हैडर टैग की जगह <div> का इस्तेमाल किया जाता था  इसका इस्तेमाल किसी भी वेब पेज में हैडर के लिए करते है।

 

हमारी राय

तो आज हमने What is HTML in Hindi के बारे में जाना है और आशा करते है आपको समझ में भी आ गया गया होगा। अगर आपको इस लेख में किसी भी प्रकार के सवाल है तो निचे कमेंट कर पूछ सकते है हम प्रोगरामिंग लैंग्वेज के बारे में पहले भी कई सारे पोस्ट कर चुके ही जिसको आप हमारे ब्लॉग पर पढ़ सकते है इसके साथ html में और भी बहुत कुछ है जिसको हम आगे सिखाते रहेंगे। अगर आप ऐसी प्रकार के पोस्ट को अपने डिवाइस में पाना चाहते है तो ब्लॉग जरुर सुब्स्क्रिबे करे।

1 thought on “HTML क्या है क्या काम करता है”

Leave a Comment

error: Content is protected !!