C Language क्या है कैसे सीखें

आज के समय में कंप्यूटर की इम्पोर्टेन्स को देखते हुए। हर कई कंप्यूटर में अपना कैरियर को बनना चाहता है इसके लिए वो अलग अलग IT कोर्सेज को करते है लेकिन  कंप्यूटर क्षेत्र में सबसे ज्यादा लोग सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते है लेकिन क्या आपको पता है एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को बहुत सारे प्रोगरामिंग लैंग्वेज के बारे में जानकारी होता है। जिसकी हेल्प से वो किसी प्रोग्राम को तैयार करता है। उसी लैंग्वेज में एक लैंग्वेज है जिसे C Language कहा जाता है

अगर किसी को Software Engineer बनना है तो C, C++ सबसे पहले इस प्रोगरामिंग लैंग्वेज के बारे में जानकारी होना आवश्यक है अगर आप कही भी इंटरव्यू के लिए जाते है तो आपको C लैंग्वेज के बारे में जरुर पूछा जाता है क्योकि अगर कोई व्यक्ति लैंग्वेज को सीखना चाहता है तो उसको सबसे पहले HTML और C लैंग्वेज के बारे में जानना जरुरी है।

आप नहीं जानते है What is C Language in Hindi तो आज हम आर्टिकल में जानेंगे C Language क्या है और इसको कैसे सिख कर सॉफ्टवेयर को डेवेलोप कर सकते है। सभी प्रकार के प्रोगरामिंग लैंग्वेज में C Language बहुत ही पॉपुलर और आसान लैंग्वेज है जिसको हम बहुत ही आसानी से सिख सकते है। आज कल ज्यादा तर सॉफ्टवेयर को Develop करने के लिए C लैंग्वेज का इस्तेमाल हो रहा है इसके साथी अगर आप C प्रोग्रामिंग को सिख लेते है तो और सभी एडवांस प्रोगरामिंग लैंग्वेज को सीखने में आसानी होगी। तो चलिए अब हम C Language Definition in Hindi में समझते है।

 

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज क्या है

सी लैंग्वेज को समझने से पहले हमें ये समझना जरूरी है की प्रोगरामिंग लैंग्वेज किसे कहते है तो सबसे पहले हम प्रोगरामिंग लैंग्वेज को समझ लेते है। प्रोगरामिंग लैंग्वेज एक भाषा है जिसके इस्तेमाल से हम कंप्यूटर को इंस्ट्रकशन देते है। तो इसको हम एक एक्साम्प्ले से समझते है। मान लीजिए अगर आपको किसी व्यक्ति से बात करनी है तो आप किसी भी भाषा का इस्तेमाल करते है जैसे हिंदी, इंग्लिश, उर्दू, इत्यादि। जिसे सामने वाला व्यक्ति समझ जाये। लेकिन अगर हमें किसी कंप्यूटर को अपने बात को समझनी तो उसके लिए हम प्रोगरामिंग लैंग्वेज को इस्तेमाल करते है।

अगर आपको कंप्यूटर में कुछ लिखना है तो आप नोटपैड का इस्तेमाल करते है जो की एक प्रोग्राम है लेकिन उस प्रोग्राम के पीछे जो कोड लिखा गया है उसे कोड को ही प्रोगरामिंग लैंग्वेज कहते है। प्रोगरामिंग लैंग्वेज एक ट्रांसलेटर की तरह काम करता है इसके इस्तेमाल से हम कंप्यूटर को इंस्ट्रकशन देते है। प्रोगरामिंग लैंग्वेज एक मशीनी भाषा जो कंप्यूटर जैसे डिवाइस में इस्तेमाल किया जाता है ये लैंग्वेज कई प्रकार के होते है। HTML, Java, C C++, CSS, इत्यादि।

 

C Language क्या है

सी लैंग्वेज एक कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल करके हम प्रोग्राम लिख सकते है। या सी लैंग्वेज के प्रयोग करके हम कंप्यूटर को इंस्ट्रकशन दे सकते है इस के इस्तेमाल से कई तरह के सॉफ्टवेयर को डेवेलोप किया गया है ये एक लिखित भाषा है इस लैंग्वेज को सिर्फ लिखा जा सकता है इसको बोला नहीं जा सकता है इस लैंग्वेज का इस्तेमाल हम मशीन को अपने बातो को समझाने के लिए करते है।

सी लैंग्वेज के इस्तेमाल से सिस्टम सॉफ्टवेयर, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर और यूटिलिटी सॉफ्टवेयर को बना सकते है। इस लैंग्वेज का मकसद था सिस्ट सॉफ्टवेयर को बनना परन्तु आज के समय में इस लैंग्वेज का इस्तेमाल कई सारे अलग अलग सॉफ्टवेयर, वेबसाइट प्रोग्राम को बनाने के लिए किया जाता है।

 

History of C Language in Hindi

Martin Richards नाम के एक प्रोग्रामर थे जिनका जन्म 21 July 1940 में हुआ था। इन्होने एक प्रोगरामिंग लैंग्वेज डेवेलोप की थी जिसका नाम था BCPL (Basic Combined Programming Language) Martin Richards ने उस समय की कई प्रोगरामिंग लैंग्वेज को Combined यानि जोड़ कर इस लैंग्वेज को बनाया था इसलिए इसका नाम भी Combined Programming Language (BCPL) है और इस लैंग्वेज को 1967 में बनाया गया था। इस प्रोगरामिंग लैंग्वेज में अभी भी कुछ कमियाँ थी इसलिए आगे चलकर Ken Thompson ने इस लैंग्वेज के कमियों को दूर किया जो की खुद एक प्रोग्रामर थे इन्होने उस लैंग्वेज का नाम B लैंग्वेज रखा जो B लेटर BCPL के पहले लेटर B से लिया गया था।

B Language को Unix Operating System को बनाने लिए ही Ken Thompson ने बनाया था। इसके कुछ समय बाद 1972 में Dennis Ritchie ने B लैंग्वेज और BCPL को मिलाकर C लैंग्वेज का आविष्कार किया। उस समय का यह पहला High Leve लैंग्वेज था जिसके इस्तेमाल से Unix ऑपरेटिंग सिस्टम को बनाया गया था। ये लैंग्वेज इतना ज्यादा पावरफुल था की इसका इस्तेमाल सिस्टम सॉफ्टवेयर के साथ साथ एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर बनाने में भी किया जाने लगा। और लैंग्वेज को लिखना भी बहुत ही सरल था। इसलिए C लैंग्वेज इतना ज्यादा पॉपुलर होता गया।

 

C Language क्यों जरूरी है

आज के समय में C Programming का इस्तेमाल बहुत ज्यादा हो रही है आज इसकी पॉपुलैरिटी को देखते हुए। आने वाले समय में C Programming का इम्पोर्टेन्ट और भी ज्यादा बढ़ता जायेगा। हर साल की डेवलपर सर्वे में सी प्रोग्रामिंग Top 10 प्रोगरामिंग लैंग्वेज में अपना जगह हमेसा बनाये रहता है। और C Programming सॉफ्टवेयर मार्केट में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले स्किल्स में से एक है।

अगर आपको सी प्रोग्रामिंग आती है तो आपको जॉब मिलाने की चांस बहुत ज्यादा बढ़ जाती है इन सभी का वजह यह है की सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज बहुत ज्यादा पॉपुलर और फ़ास्ट है और इसको इस्तेमाल करना भी बहुत आसान है।

अगर हम सी लैंग्वेज के इस्तेमाल की बात करे तो अपने Linux ऑपरेटिंग का नाम जरूर सुना होगा। लेकिन क्या आपको पता है लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम में ज्यादा से ज्यादा सी प्रोग्रामिंग का इस्तेमाल किया था इतना ही नहीं सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला डेटाबेस MySql को भी सी प्रोग्रामिंग में लिखा गया है

आज कल MySql ज्यादा से ज्यादा सर्वर में रन करता है इस बात से आप समझ ही गए होंगे की सी प्रोग्रामिंग इतना महत्वपूर्ण क्यों है। इसके आलावा आपको ये जानकर हैरानी होगी आज के समय में जितने भी ऑपरेटिंग सिस्टम है जैसे मैक, लिनक्स, विंडोज, इन सभी में भी सी प्रोग्रामिंग का इस्तेमाल किया गया है। क्योकि C Language इतना ज्यादा पोर्टेबल है की इसमें सभी के सभी अपने कण्ट्रोल में रहता है।

अगर आप आगे भी एडवांस लैंग्वेज जैसे C++ को सीखना चाहते है तो सबसे पहले आपको सी लैंग्वेज को सीखना जरुरी है यंहा तक की अगर आप सी लैंग्वेज को अच्छे सिख और समझ लेते है तो आपको और सारे लैंग्वेज को सीखना और समझना आसान हो जाता है। आज के समय अगर आप किसी कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर या प्रोग्रामिंग जॉब के लिए जाते है तो आपको सी प्रोगरामिंग आना ज्यादा जरुरी है।

 

C Language कैसे सीखें

अगर आप प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखना चाहते है बहुत ही आसानी से सिख सकते है अगर आप सी लैंग्वेज को सिख लेते है और आपको पता चल जाता है प्रोग्राम कैसे लिखा जाता है या प्रोग्राम कैसे execute होते है तो आप किसी भी और प्रोगरामिंग लैंग्वेज को सीखना आसान हो जाता है क्योकि सी लैंग्वेज को हम सिख लेते है तो हमें ये जानकारी जरूर हो जाती है की प्रोगरामिंग कैसे लिखी जाती है और प्रोगरामिंग के स्ट्रक्चर भी हमें समझ आने लगते है।

 

डाउनलोड सॉफ्टवेयर

तो सबसे पहले हमें किसी भी टास्क करने के लिए उसके सभी जरुरी चीजे होना बहुत ही जरुरी है तो अगर आप प्रोग्रामिंग सीखना चाहते है तो सबसे पहले आपको एक सॉफ्टवेयर चाहिए होगा जिसमे हम अपने प्रोग्राम को लिखेंगे। तो प्रोगरामिंग लिखने लिए आपको कई सारे सॉफ्टवेयर इंटरनेट पर फ्री में मौजूद है जैसे Turbo C और C++ इत्यादि परन्तु C लैंग्वेज को और भी आसानी से सीखना चाहते है तो इसको लिए मैं आपको रेकमंड करता हूँ आप Microsoft का Visual Studio Code को डाउनलोड कर सकते है।

लैंग्वेज को समझे

इसके बात जब आप इतना प्रोसेस कम्पलीट कर लेते है तो अब इसको आप सी लैंग्वेज कैसे लिखा जाता है इसको समझने की कोशिश करे। जब आपको इतना पता चल जाता है किस तरह से बेसिक लैंग्वेज लिखना है इसके बाद आप Syntax क्या है Header File क्या है Data Type क्या है इसको समझना है इतना सब करने के बाद आपको सी लैंग्वेज को लिखना और भी आसान हो जायेगा।

 

प्रोग्राम बनाये

अब आपको प्रोग्राम बनाना सीखना होगा। इसके लिए आप सबसे पहले छोटा सा प्रोग्राम बनाये। इसके लिए आप यूट्यूब से भी हेल्प ले सकते है या आप इंटरनेट की हेल्प आप प्रोग्राम कैसे लिखा जाता है इसके बारे में सर्च कर सकते है इसके आलावा आप C Language Book भी खरीद सकते है। जिसमे आपको सी लैंग्वेज के बारे में बेसिक से एडवांस तक के बारे में दिए होते है।

 

संक्षेप

तो आज के इस टॉपिक में हमने C Language क्या है इसके बारे में जाना जंहा हमने What is C Language और इसके साथ ही हमने History of C Language भी जाना आशा है आपको ये आर्टिकल काफी पसंद आया होगा। अगर आपको किसी प्रकार का सवाल है तो निचे कमेंट करके पूछ सकते है। इसके आलावा अगर आपको पोस्ट अच्छा लगा तो सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर सकते है।

 

 

1 thought on “C Language क्या है कैसे सीखें”

Leave a Comment