Blog Post को कैसे रैंक करें हिंदी में

How to Rank Blog Post in Hindi:तो अगर आप एक ब्लॉगर है या आप ब्लॉगिंग के फील्ड में आना चाहते है तो आज का पोस्ट आपको बहुत ही ज्यादा हेल्प फूल होने होने वाला वाल है। क्योकि आप सभी को पता है की ब्लॉग को बना कर पैसे कमाया जा सकता है परन्तु ये इतना आसान भी नहीं है बहुत सारे ऐसे यूजर है जो ब्लॉग तो करते कर लेते परन्तु ब्लॉग पर ट्राफीक नहीं आता है जिसके कारण उन्हें अपने ब्लॉग को छोड़ना पड़ता है।

ब्लॉग पर ट्रैफिक तभी आता है जब उस ब्लॉग के पोस्ट Google में Rank करता है जब तक पोस्ट गूगल में रैंक नहीं करेगा। तब तक आप चाहे जितना भी मेहनत क्यों न करें आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं आयेगा।

वही अगर बात करे ब्लॉग के पोस्ट को गूगल में रैंक करने की तो ये थोड़ा मुश्किल तो है परन्तु अगर कोई सही तरीके से अल्गोरिथम का इस्तेमाल करता है या उसे SEO (Search Engine Optimization) के बारे में नॉलेज है तो वो अपने पोस्ट को गूगल में आसानी से रैंक करा सकता है।

एक पोस्ट को रैंक कराने के लिए बहुत मेहनत और धर्य की आवश्यकता पड़ती है। तो इसलिए हम आज हम Google में अपने Post Kaise Rank कराते है उसके बारे में जानेंगे इसके साथ ही हम Blog Post Rank कराने के टिप्स और ट्रिक्स के बारे में भी जानेंगे।

अगर आप एक ब्लॉगर है और अपने ब्लॉग रेगुलर पोस्ट लिखते है उसके बाद भी ट्रैफिक नहीं आती है या आप ब्लॉग्गिंग करना चाहते है तो आपको इसके बारे में जानना बहुत ही जरुरी है। तो चलिए अब हम How to Rank Blog Post के बारे में हिंदी में जानते है।

 

ब्लॉग पोस्ट कैसे रैंक कराए

आज के दुनिया में ब्लॉगिंग बहुत ही बड़ा प्लेटफार्म बन चूका है और बहुत सारे लोग इसको करियर के रूप में भी चुन रहे है। क्योकि Bloging एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसके माध्यम से घर बैठे लाखों पैसे कमाए तो जा सकते है परन्तु लाखों रुपये कमाने के लिए आपको ब्लॉगिंग के बारे में जानकारी भी होना बहुत ही जरुरी है।

आज इंडिया में ही बहुत सारे ऐसे ब्लॉगर है जो लाखों रूपया कमा रहे है। जो नए ब्लॉगर है उन्हें इस विषय के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होने के कारण वो आपने काम को सही ढंग से नहीं कर पाते है और होता ये है की वो कुछ समय बाद ब्लॉगिंग छोड़ देते है। और कुछ लोग ऐसे भी होते है जो मेहनत तो करते है परन्तु बहुत सारे मेहनत के बाद भी वो अपने ब्लॉग की हेल्प से इनकम नहीं कर पाते है।

तो सबसे पहले हम जानते है पोस्ट रैंक कैसे होता है जब हम गूगल के सभी रूल को फॉलो कर कोई पोस्ट को लिखते है तब वह पोस्ट गूगल में कुछ समय बाद गूगल के टॉप 10 में जाकर रैंक करता है।

जब वह गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक करता है और कोई व्यक्ति कुछ भी सर्च करता है जिसमे आपका वेबसाइट सबसे पहले शो होता है और यूजर आपके वेबसाइट पर विजिट करता है अब जब आपके ब्लॉग के जितने ज्यादा पोस्ट गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक करेगा। उतना ही ज्यादा आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक आएगा।

परन्तु आपको पोस्ट के लिखते समय गूगल के अल्गोरिथम यानि रूल के बारे में जानकारी होने चाहिए। हमें ये पता होना चाहिए की SEO Friendly Article को कैसे लिखते है। इसलिए आज के इस पोस्ट में जानेंगे की ब्लॉग पोस्ट को लिखते समय हमें किस किस स्टेप को फॉलो कर ब्लॉग पोस्ट को लिखना है। और Blog Post लिखने के Tips के बारे में भी जानेंगे। How to Rank Post

 

ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखें

किसी भी प्रकार के ब्लॉग पोस्ट या पेज को अगर गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक करना है तो सबसे पहले उस पोस्ट और पेज के प्रॉपर तरह से SEO होने चाहिए। यानि वो पोस्ट Search Engine optimize होना बहुत ही जरुरी है। जब हम किसी पोस्ट का seo करते है उसके अंदर कई प्रकार अपडेट करते है जैसे हम जिस पोस्ट को लिख रहे है उस पोस्ट में कीवर्ड कहा और कितने कीवर्ड पोस्ट में होने चाहिए।

पोस्ट को लिखते समय पोस्ट का टाइटल क्या होना चाहिए। इन सभी के आलवा पोस्ट में कितने इमेज और इमेज को ऑप्टिमाइजेशन कैसे करना है। पोस्ट का पर्मालिंक कैसे होना चाहिए। How to Write Blog Post in Hindi

ये सभी के सभी स्टेप Search Engine Optimization (SEO) के अंदर आते है। इसके आलवा बहुत सारे स्टेप है जिसे हमें एक पोस्ट को लिखते समय ध्यान देना है। अब हम एक एक करके सभी स्टेप को समझते है जिसमे हमें Blog Post को लिखते समय फॉलो करना है।

Google Adsense क्या है Adsense से पैसे कैसे कमाए
Best Free Keyword Research Tools वेबसाइट या ब्लॉग के लिए

Attractive Blog Post Title

जब भी हम Blog Post के लिखते है तो सबसे पहले हम अपने पोस्ट के लिए एक अच्छा सा टाइटल को सेलेक्ट करते है। तो अगर आप पोस्ट लिख रहे है तो सबसे पहले तो पोस्ट के टाइटल को लिखते समय हमें ज्यादा फोकस करना है। यानि टाइटल को अट्रैक्टिव लिखना है जिससे विजिटर टाइटल को पढ़ने के बाद खुद ब खुद उस पोस्ट को पढ़ना चाहे।

कभी भी पोस्ट के टाइटल को सीधा और साधारण न लिखें। जब आप अपने ब्लॉग पोस्ट के टाइटल को अट्रैक्टिव बनाते है तो जो भी विजिटर आपके ब्लॉग पर विजिट करता है वो आपके दूसरे पोस्ट को भी रीड पढ़ता है। इसलिए जब आपका पोस्ट का Title Attractive होगा तो विजिटर दूसरे पोस्ट के टाइटल पढ़ने के उस पोस्ट को भी पढ़ने के लिए क्लिक करेगा। और आप अपने टाइटल को सुद्ध भासा का प्रयोग करके लिखें।

 

कीवर्ड प्लेसमेंट

अब जब हम ब्लॉग पोस्ट को लिखना शुरू करते है तब बात आती है Keyword Placement की ब्लॉग पोस्ट चाहें कितना भी गलती क्यों न हो अगर कीवर्ड प्लेसमेंट सही तो पोस्ट की रैंक करने के बहुत ज्यादा चांस होता है। ऐसा बिलकुल भी नहीं है की सिर्फ अच्छी कीवर्ड होने से ही पोस्ट रैंक करता है। हमें पोस्ट में कीवर्ड प्लेसमेंट कहा और कैसे करना है वो जरूर आना चाहिए।

किसी पोस्ट को गूगल के फर्स्ट पेज में रैंक कराने में कीवर्ड का मुख्य योगदान होता है। क्योकि कीवर्ड से ही गूगल को ये पता चलता है की टॉपिक किस विषय से सम्बंधित है। तो चलिए अब हम जानते है कीवर्ड का प्लेसमेंट पोस्ट में कैसे करना है।

तो सबसे पहले तो जो आपका मुख्य कीवर्ड है उसको अपने ब्लॉग के टाइटल में जरूर प्लेसमेंट करें। इसके आलवा आपका पोस्ट का मुख्य कीवर्ड जिस कीवर्ड को गूगल में रैंक कराना चाहते है उसको आप अपने ब्लॉग के Permalink में जरूर दें। इसके बाद जब आप अपना आर्टिकल लिखते है तो First Paragraph में अपने मुख्य कीवर्ड को जरूर लिखें।

आप अपने मुख्य कीवर्ड को ब्लॉग Number of Word के हिसाब से प्लेसमेंट कर सकते है। जैसे अगर आपका पोस्ट 1000 Word से ज्यादा है तो उसमे आप अपने कीवर्ड को 5 बार से ऊपर इस्तेमाल कर सकते है। इन सभी के आलवा आप अपने Sub-Keywords को Heading 1, Heading 2, Heading 3, में भी इस्तेमाल करें,

सबसे जरुरी Post के अंदर Meta Description में भी कीवर्ड का प्लेसमेंट होना चाहिए, और अगर आप अपने पोस्ट में मीडिया का इस्तेमाल कर रहे है जैसे Image, Videos तो Alt Text भी कीवर्ड जरूर दें। तो अभी तक हमने ये समझ लिया है की How Place Keyword in Post.

 

अच्छे टॉपिक पर पोस्ट लिखें

अगर आप अपने पोस्ट ब्लॉग के लिए पोस्ट लिखना चाहते है तो एक अच्छे टॉपिक के हो सेलेक्ट करें। जिससे आपके ब्लॉग पर ज्यादा की संख्या में ट्रैफिक मिले। क्योकि अगर आप किसी भी ऐसे टॉपिक पर पोस्ट को लिखते है जिसका सर्च गूगल में बिलकुल भी नहीं तो आप उस पोस्ट को तो रैंक जरूर करा सकते है।

परन्तु इससे ट्रैफिक बिलकुल भी नहीं मिलेगा। अगर आप अच्छे टॉपिक को सेलेक्ट कर पोस्ट लिखते है और उसे रैंक कराते है तो उसके साथ ही अपने ब्लॉग के दूसरे पोस्ट को भी उस पोस्ट के साथ जोड़ कर रैंक करा सकते है। इसलिए जब भी आप किसी भी कीवर्ड पर अपना पोस्ट लिखते है तो Keyword Research जरूर कर लें जिस कीवर्ड को रैंक करना चाहते है।

इन सभी के अलावा अगर आपका Post अच्छे Topic पर है तो जो भी विजिटर आपके उस पोस्ट पर विजिट करता है अगर उसको पोस्ट अच्छा लगता है तो उसे शेयर भी करता है। तो अभी तक हमने How to Rank Post in Hindi कराते है उसके बारे में तो समझ लिया है और SEO के बारे में भी जाना है।

 

कीवर्ड रिसर्च

ब्लॉग हो या वेबसाइट बिना कीवर्ड रिसर्च को हम रैंक नहीं करा सकते है। तो सबसे पहले आप जिस भी टॉपिक पर आर्टिकल पब्लिश करना चाहते है उसके बारे में कीवर्ड रिसर्च जरूर करें। कीवर्ड रिसर्च करने बाद अच्छे कीवर्ड को सेलेक्ट कर लें। जैसे Long tail Keyword को सेलेक्ट करें जिसको हम आसानी से रैंक करा सकते है। वैसे ही कुछ कीवर्ड को सेलेक्ट कर लें। उसके बाद ही अपने पोस्ट में कीवर्ड का प्लेसमेंट करें।

कीवर्ड रिसर्च करते समय अगर आपका ब्लॉग पर बिलकुल भी ट्रैफिक नहीं आता है तो पोस्ट के लिए ऐसे कीवर्ड को सेलेक्ट करें जिसका Search Volume ज्यादा न हो और Long Tail Keyword हो। ऐसे कीवर्ड को आसानी के साथ गूगल में रैंक कराया जा सकता है। जितना ज्यादा Keyword रैंक करेगा। उतना ही ज्यादा Post Rank करेगा।

 

पोस्ट को कॉपी न करें

जितने भी नई ब्लॉगर है उसमे कुछ ऐसे होते है जो कंटेंट के लिए दूसरे ब्लॉग के पोस्ट को कॉपी करते है। या इंग्लिश ब्लॉग को कॉपी कर हिंदी में ट्रांसलेशन कर पोस्ट पब्लिश करते है। यही वो मुख्य कारण है जिसके चलते ब्लॉग रैंक नहीं करता है। क्योकि अगर कोई अपने ब्लॉग में पोस्ट को कॉपी कर पब्लिश करता है तो उससे पोस्ट के साथ दूसरे पोस्ट भी रैंक नहीं होता है। कॉपी कंटेंट को गूगल कभी भी इंडेक्स नहीं करता है।

परन्तु कुछ ब्लॉगर ऐसे होते है जो कॉपी करने के बाद उसमे कुछ चेंज कर पब्लिश करते है। तो इसलिए मैं आपको बताना चाहता हूँ अगर आप ऐसा करते है तो आपका बेस्ट तो गूगल में इंडेक्स हो जाता है परन्तु वो कभी भी रैंक नहीं करता है।

अगर कोई बार बार कॉपी कंटेंट को पब्लिश कर रहा है तो गूगल ऐसे ब्लॉग को ब्लैक लिस्ट कर देता है जिसके बाद चाहे कितना भी पोस्ट पब्लिश करें।

ब्लॉग पोस्ट कभी भी रैंक नहीं करता है। तो इसलिए जरुरी है की ब्लॉग पर यूनिक कंटेंट को पब्लिश करें। और जब भी आप पूरा पोस्ट को लिख लेते है तो उस पोस्ट का Plagiarism जरूर चेक कर लें। अगर आपका पोस्ट में 10% ज्यादा Plagiarism दिखा रहा है तो उसको ठीक करें।

प्लगियरीसम चेक करने के लिए इंटरनेट पर बहुत सारे टूल अवेलेबल है। जिसका इस्तेमाल फ्री में कर सकते है। इन सभी के आलवा आप किसी भी प्रकार के कॉपी इमेज का भी इस्तेमाल न करें।

 

पोस्ट के लिए बैकलिंक बनाये

अगर आपको ब्लॉग के बारे में जानकारी है तो शायद आप जानते होंगे। की आज के समय में ब्लॉग को रैंक कराने के लिए बैकलिंक कितना जरुरी है। क्योकि जितना ज्यादा आप अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक क्रिएट करते है। उतना ही ज्यादा आपके ब्लॉग के DA (Domain Authority) बढ़ता है।

जितना ज्यादा आपके ब्लॉग का डोमेन अथॉरिटी होगा, उतना ही ज्यादा गूगल का आपके ब्लॉग के ऊपर ट्रस्ट क्रिएट होगा। जिससे आपके ब्लॉग का पोस्ट रैंक करेगा।

इसलिए अगर आप किसी भी पर्टिकुलर किसी टॉपिक को रैंक करना चाहते है तो उस पोस्ट के लिए हाई क्वालिटी बैकलिंक को क्रिएट करना होगा। लेकिन बैकलिंक को बनाते समय कुछ बातों को ध्यान रखना है। जैसे किसी भी गलत वेबसाइट से बैकलिंक न लें।

अगर आप किसी गलत वेबसाइट जैसे पोर्न इत्यादि से बैकलिंक बनाते है तो आपका वेबसाइट का Spam Score बढ़ता है जब किसी ब्लॉग वेबसाइट का स्पैम स्कोर ज्यादा बढ़ जाता है तो गूगल उस वेबसाइट को सर्च इंजन में ब्लॉक कर देता है। इसलिए बैकलिंक किसी भी ट्रस्टेड वेबसाइट से ले, जिसका DA(Domain Authority) PA (Page Authority) अच्छा हो।

 

पोस्ट ऑप्टिमाइज़ करना

जब आप ऊपर बताए गए सभी स्टेप को फॉलो कर लेते है तब उसके बाद पोस्ट को ऑप्टिमाइज़ करना होता है जिसमे कई सारे स्टेप को फॉलो करना होता है। जैसे की जब भी आप किसी पोस्ट को पब्लिश करे तो उसमे अपने ब्लॉग के दूसरे पोस्ट के लिंक को जरूर दें। जिसे इंटरलिंकिंग भी कहते है। इससे होता ये है की अगर आपका पोस्ट गूगल में रैंक करता है और उसपे विजिटर आते है और पोस्ट के अंदर के लिंक पर क्लिक कर दूसरे पोस्ट को भी पढ़ लेते है।

उससे आपके ब्लॉग पर Page View ज्यादा आता है। दूसरा आप अपने पोस्ट के यूआरएल जिसे Permalink कहते है। उसे छोटा रखे, और अपने पोस्ट में एक्सटर्नल लिंक के साथ साथ मीडिया का इस्तेमाल जरूर करें जैसे फोटोज, वीडियोस, इत्यादि।

 

संक्षेप

तो लास्ट मैं एक ही बात कहना चाहूंगा। की ब्लॉगिंग का बहुत धर्य का काम है। इसमें आपको बहुत ज्यादा समय देना होगा। अगर आप इस सोच के साथ आते है की ब्लॉगिंग से हम कुछी ही समय के अंदर पैसा कमा सकते है तो गलत है क्योकि आज के समय में ब्लॉगिंग के क्षेत्र में कम्पटीशन बहुत ज्यादा है।

इसमें अगर ब्लॉग को रैंक कराना है तो आपको सबसे अलग करना होगा। अगर कोई हप्ते के दो पोस्ट लिखता है तो आप रोज के एक पोस्ट लिखिए। तभी आप आगे निकलेंगे। बहुत सारे ऐसे ब्लॉगर है जो ब्लॉग शुरू भी करते है और कुछ ही समय के बाद बंद भी कर देते है। इसलिए किसी भी काम को करने के लिए धर्य के साथ मेहनत करना आना चाहिए।

तो आज के Post में हमने How to Rank Blog Post in Hindi के बारे में जानकारी ली हैं। अगर आपको आज का हमारा पोस्ट Post Kaise Rank kare समझ में आ गया है तो निचे कमेंट जरूर करें। और अगर आप किसी भी प्रकार के सुझाव हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो निचे कमेंट करके सुझाव पर विचार कर सकते है। How to Rank Blog Post

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!