Network Marketing क्या है-Network Marketing in Hindi

What is Network Marketing in Hindi आज हम पैसे कमाने के लिए क्या क्या नहीं करते है और आज पैसे कमाने के बहुत सारे स्मार्ट तरीके भी आज चुके है जिसके माध्यम से कम से कम समय में ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाया जा सकता है। इसलिए आज के इस पोस्ट में Network marketing in Hindi में जानने वाले है आखिर ये नेटवर्क मार्केटिंग होता क्या है बहुत सारे लोगो के मन में Network Marketing से सम्बंधित बहुत सारे सवाल होते है।

आज हम इन्ही सारे जवाब को जानने की कोशिश करेंगे। जिससे नेटवर्क मार्केटिंग से सम्बंधित कई सारे सवाल को हम बहुत ही अच्छे से समझ पाएंगे। और ये भी समझेंगे की आखिर नेटवर्क मार्केटिंग को अगर कोई करना चाहता है तो वो कैसे कर सकता है। वैसे तो नेटवर्क मार्केटिंग और भी बहुत सारे नाम से जाना जाता है जैसे Multi Level Marketing (MLM), Direct Selling, अगर ऐसा नाम कही भी सुनते है तो आप समझ जाईये की Network Marketing की ही बात हो रही है।

आज नेटवर्क मार्केटिंग भारत का उभरता हुआ बिज़नेस है। जिसको बहुत सारे बड़े से बड़े कम्पनियाँ कर रही है। तो अगर अभी भी आपको नहीं पता है की असल में नेटवर्क मार्केटिंग होता क्या है तो इस पोस्ट में हम यही सब जानने वाले है। तो चलिए अब जानते है नेटवर्क मार्केटिंग होता क्या है। Network Marketing in Hindi

शेयर बाजार क्या है What is Share Market in Hindi
Mutual Fund क्या है और इसके फायदे क्या है

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है Network Marketing in Hindi

तो सबसे पहले हम जानते है नेटवर्क मार्केटिंग क्या है तो इसको हम सिंपल शब्दों में समझे तो नेटवर्क मार्केटिंग एक Marketing Module होता है यानि ये एक ऐसा मार्केटिंग मॉडल होता है जिससे कोई कंपनी अपने Goods यानि प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को लोगो के बिच पहुँचाती है। इस नेटवर्क मॉडल में लोग एक दूसरे की हेल्प से जुड़ते है और किसी भी कंपनी से प्रोडक्ट और सर्विस को बेचते है या प्रमोट करते है।

इस नेटवर्क के हर मेंबर एक Independent Sales Representative (स्वतंत्र बिक्री प्रतिनिधि) होता है और इस नेटवर्क में जितने भी लोग जुड़े होते है वो कोई प्रोडक्ट को बेचते है तो उन्हें फिक्स कमिशन मिलता है। नेटवर्क मार्केटिंग के जरिये प्रोडक्ट को डायरेक्ट सेल की जाती है। तो इसको हम एक उदहारण से समझते है। की Network Marketing कैसे काम करता है।

इसमें होता क्या आप जिस भी कंपनी से जुड़ कर Network Marketing करते है उसमे आपको उस कंपनी के प्रोडक्ट को लोगो से बेचना होता है या कंपनी के सर्विस के बारे में लोगों को बताना होता है। अब मानलीजिए अपने कंपनी का किसी भी प्रोडक्ट को अपने माध्यम से सेल करते है तो आपको फिक्स कमिशन मिलता है।

इसी तरह मान लीजिए आपने अपने दोस्त को भी अपने माध्यम से नेटवर्क मार्केटिंग से जोड़ा है। अब अगर आपके दोस्त कंपनी की कोई प्रोडक्ट को बेचता है तो उसको तो कमीशन मिलेगा ही परन्तु आपको भी कमिशन मिलेगा। क्योकि अपने ही अपने दोस्त को नेटवर्क मार्केटिंग से जोड़ा है।

वैसे ही अगर आपका दोस्त भी अपने किसी दोस्त को जोड़ता है तो उसका भी कमिशन आपके दोस्त को भी मिलेगा और आपको भी मिलेगा। ऐसी ही लोग जुड़ते जाते है और बहुत सारे लोगों का एक समूह बन जाता है। जो कंपनी के प्रोडक्ट को डायरेक्ट लोगों से बेचते है। और कम्पनी फिक्स कमीशन देती है। आज के समय में इसके अलग अलग नाम से जाना जाता है जैसे Cellular Marketing, Affiliate Marketing, Consumer Direct Marketing, Referral Marketing, Home Based Business Franchising, इत्यादि।

 

नेटवर्क मार्केटिंग के फायदे  Benfit of Network Marketing

अभी तक हमने नेटवर्क मार्केटिंग क्या होता है इसके बारे में पूरी तरह समझ चुके है तो चलिए अब हम नेटवर्क मार्केटिंग क्या क्या फायदे है इसको समझते है। जितने भी कम्पनियाँ है जो इस नेटवर्क मॉडल को फॉलो करती है वो अपने प्रोडक्ट को डायरेक्ट Consumer (उपभोक्ता) से बेचती है। न की वो किसी डिस्ट्रीब्यूटर से बेचती है। वो अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए जितने भी मेंबर कंपनी के Network Marketing Model से जुड़े होते है उन्हे अपने प्रोडक्ट को देती है जिसके बाद उन्हें बेचने पर फिक्स कमिशन मिलता है जैसे की हमने ऊपर बताया है।

इस नेटवर्क से जुड़ कर काम करने के लिए हमें बहुत ज्यादा इन्वेस्टमेंट की आवश्यकता नहीं पड़ती है। और नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस मॉडल में ज्यादा Advertisement की भी आवश्यकता नहीं पड़ती है। क्योकि इसमें पर्सन तो पर्सन मार्केटिंग होता है। यानि कंपनी के मेंबर प्रोडक्ट को डायरेक्ट कंस्यूमर से बेचते है।

ये नेटवर्क मॉडल बहुत बड़ा होता है। और इसमें जुड़ने वाले मेंबर को कोई फिक्स सेलेरी नहीं मिलती है। मतलब वो जितने अच्छे से लोगो को अपने नेटवर्क में जोड़ेंगे और अच्छे से परफॉर्म करेंगे। उतना ही ज्यादा कमीशन मिलता जायेगा।

 

कैसे पता करे कंपनी सही है या गलत

तो इसके बहुत सारे फायदे तो परन्तु कुछ नुकसान भी है क्योकि बहुत सारी कम्पनियाँ मार्केट में ऐसे भी है। जो आपको बहुत सारे ऑफर को लालच देती है और आपको अपने तरफ आकर्षित कराती है। और पैसे लेकर भाग जाती है। तो ऐसे में हमें ऐसे कम्पनीयों से बहुत ही ज्यादा सावधान रहने की आवश्यकता है।

जब भी किसी कंपनी से जुड़े तो उस कंपनी के बारे में जरूर रिसर्च कर लें। क्योंकि कंपनी से जुड़ने के लिए आपको बहुत सारे फायदे बताये जाते है जो असल में सच नहीं होते है।

तो अगर किसी भी कंपनी में जुड़ना चाहते है तो सबसे पहले आप कंपनी से जुड़े सवाल के जवाब जरूर पता कर ले। जैसे कंपनी के रूल क्या है, उस कंपनी के मालिक के बारे में रिकॉर्ड, उस कंपनी में ट्रेनिंग कैसे दी जाती है, क्या उस कंपनी के प्रोडक्ट Useful है, क्या उस कंपनी के प्रोडक्ट को कोई इस्तेमाल करता है या नहीं, क्या कंपनी में कोई गलत काम तो नहीं होता है। इत्यादि जब आप ऐसे सवाल के जवाब को पता चल जाता है इसके बाद आपको कंपनी सही है या गलत उसके बारे में पता चल जायेगा।

जब तक आप कंपनी के बारे में पूरी जानकारी नहीं मिलती है तब तक आप किसी भी कंपनी में किसी के कहने पर ज्वाइन नहीं हो, क्योकि यंहा आपको आपके पैसे डूब सकते है। दूसरा आपका टाइम भी बर्बाद होगा, थोड़े समय बाद आपको पता चेलगा की कंपनी फ्रॉड है। इसलिए जब आप किसी अच्छे कमपनी में ज्वाइन हो जाते है उसके बाद ही अपने दोस्तों को भी उस कंपनी से जुड़ने के बारे में सलाह दें।

 

आज हमने समझा है

आज के इस आर्टिकल में हमने Network Marketing in Hindi के बारे में सम्पूर्ण जानकारी जाना है। इसके साथ ही नेटवर्किंग मार्केटिंग कैसे काम करता है और नेटवर्क मार्केटिंग के फायदे और नुकसान के बारे में भी जाना है। इन सभी के साथ ही मैं आपको कहना चाहता हूँ। नेटवर्क मार्केटिंग में आपको स्टार्टिंग से ही पैसे आना नहीं होता है। इसमें आपको धैर्य की जरुरत पड़ेगी। अगर आपको आज का टॉपिक Network Marketing in Hindi में समझ आ गया है तो निचे कमेंट जरूर करे और किसी भी प्रकार के सवाल जानना चाहते है तो कमेंट करके पूछ सकते है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!